प्रिंटर क्या है | प्रिंटर कैसे काम करता है

0
70
प्रिंटर
Contents hide

प्रिंटर

प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस है। जिसकी मदद से पेपर पर प्रिंट किया जाता है। यह प्रिंटर कंप्यूटर से  LPT, USB कनेक्टर के द्वारा कनेक्ट होता है
 

 

प्रिंटर
प्रिंटर

 

=> प्रिंटर दो प्रकार का होता है।

 

1. इम्पैक्ट प्रिंटर -: इम्पैक्ट प्रिंटर ऐसे प्रिंटर को कहा जाता है जो अपनी छाप छोड़ देते हैं अर्थात इन प्रिंटर में आवाज भी होती है और इसमें जो अक्षर होते हैं वो ठोस होते हैं. जैसे कि टाइपराइटर प्रिंटिंग जिसकी सभी प्रोसेस टाइपराइटर की तरह होती है. जिसमे मेटल आदि का हैमर अथवा प्रिंट हैड होता है जो रिबन या कागज से टकराते हुए प्रिंट करता है 
Ex-: डॉट-मैट्रिक्स प्रिंटर। (D.M.P.) {ये प्रिंटर पुराने हैं, जो एक रंग में प्रिंट होते हैं। इस प्रिंटर में डॉट्स के साथ कई प्रिंट्स प्रिंट होते हैं, इसीलिए इन्हें डॉट-मैट्रिक्स प्रिंटर कहा जाता है। प्रिंट करने के लिए इन प्रिंटरों में एक हेड और रिबन होता है।}
2. नॉन-इम्पैक्ट प्रिंटर -: प्रिंटर जो कागज पर प्रिंट करने के लिए कागज पर अनप्रिंट प्रिंट करते हैं। उन्हें नॉन-इम्पैक्ट प्रिंटर्स कहा जाता है।

 

 

डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर-: यह प्रिंटर पुराना प्रिंटर है, जो एक कलर में प्रिंट करता है। यह प्रिंटर बहुत सारे डॉट से प्रिंट करने के लिए बनाया गया है, इसलिए इसे डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर कहा जाता है। इस प्रिंटर में प्रिंट करने के लिए एक रिबन और हेड होता है।

 

प्रिंटर

 

डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर

 

 

 

प्रिंटर में निम्नलिखित भाग हैं: –

 

1. लॉजिक कार्ड-: यह कार्ड प्रिंटर को कंप्यूटर से जोड़ता है और डेटा का आदान-प्रदान करता है।

 

2. पावर कार्ड-: यह कार्ड प्रिंटर को 12 वोल्ट और 24 वोल्ट की बिजली की आपूर्ति देता है।

 

3. ड्रम-: कागज को ड्रम द्वारा वापस भेजा जाता है।

 

4. पेपर फीडिंग रोलर-: यह रोलर पेपर को अंदर बाहर करता है।

 

5. हेड-: यह प्रिंट बनाता है।

 

6. रिबन-: यह एक पतली कपड़े की पट्टी है। जिसमें स्याही रहती है। जिससे छपाई होती है।
सेंसर:
 
1.पेपर सेंसर-: यह सेंसर पेपर को सेंस करता है।
2. होम पोजिशन सेंसर-: यह हेड को सेंस करता है।
3. लिप सेंसर-: यह प्रिंट का रंग बदल देता है।
मोटर:
1. स्पेक्टर मोटर-: यह मोटर ड्रम को घुमाती है।
2. स्नैपडील मोटर्स-: यह मोटर हेड को घुमाती है।
3. बेल्ट-: बेल्ट हेड को लेफ्ट और राइट मूव करता है।
4. कैरी रॉड-: हेड को इस रॉड से कैरी किया जाता है।
 
 
 
इंकजेट प्रिंटर -:
 

 

प्रिंटर

 

इंकजेट प्रिंटर
हेड कोडर स्ट्रिप -: यह हेड को पोजेटिव बनाता है, हेड को सेन्स करता है और हेड को होम पोजिसन में लाता है।
रिफिल -: इसे इंक रिफिल कहा जाता है। जिसमें स्याही भरी जाती है, और यह दो प्रकार की होती है। एक में
  कलर और दूसरे में ब्लैक स्याही भरी जाती है।
हेड क्लीनिंग स्टंबलिंग -: यह स्टीमिंग कार्ट्रिज को साफ करता है।
 
 
 
लेजर प्रिंटर -:
 

 

प्रिंटर

लेजर प्रिंटर

 

लेजर प्रिंटर नये प्रिंटर, तेज के गति प्रिंटर और सबसे अच्छी गुणवत्ता वाला प्रिंटर है। ये प्रिंटर के कलर से प्रिंट नहीं कर सकते हैं। प्रिंटर को प्रिंट करने के लिए टोनर का उपयोग जाता किया है। टोनर एक प्रकार का पाउडर है। जिसके माध्यम से प्रिंट होता है।
प्रिंटर

टोनर

यह भी पढ़े -: प्रिंटर को कैसे रिपेयर करते हैं

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here